National Webinar on Sadasadavada

A brief report on Sadasadavada seminar.




 

national webinar


 

 

 

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                              



Report

Sadasadavada is one of the several books authored by renowned Vedic teacher Pandit Madhusudan Ojha on Creation.  On May 29, 2021, Shri Shankar Shikshayatan organised a National Webinar on Sadasadavada as part of its discussion series to highlight various works of three gurus, Pandit Madhusudan Ojha, Pandit Motilal Shastri and Rishi Kumar Mishra. Read the full report of the Seminar here

 

 

प्रतिवेदन 
 

पण्डित मधुसूदन ओझाजी ने ऋग्वेद के नासदीयसूक्त एवं उसके आधार पर ब्राह्मणों, आरण्यकों एवं अन्य परवर्ती वैदिक ग्रन्थों में प्रतिपादित सृष्टिविषयक सन्दर्भों का आलोडन करते हुए उनको आधार बना कर सृष्टिविषयक पूर्वपक्ष के रूप में व्याख्यायित आवरणवाद, व्योमवाद, अम्भोवाद एवं अपरवाद आदि मतों के स्पष्टतया प्रतिपादन हेतु जिन १० वादग्रन्थों का प्रणयन किया है उनमें ‘सदसद्वाद’ नामक ग्रन्थ का महत्त्वपूर्ण स्थान है। इस ग्रन्थ में सृष्टिप्रतिपादक पूर्वपक्ष में रूप में ऋग्वेद के नासदीय सूक्त में उद्धृत सृष्टिविषयक प्रथम मत सदसद्वाद का स्पष्टतया प्रतिपादन किया गया है। इसी ग्रन्थ को आधार बनाकर श्री शंकर शिक्षायतन (वैदिक शोध केन्द्र) नई दिल्ली द्वारा दिनांक २९ मई २०२१ को एक राष्ट्रीय वेब संगोष्ठी का समायोजन किया गया। यह समायोजन शिक्षायतन द्वारा सृष्टिविषयक वादग्रन्थविमर्श शृखला के अन्तर्गत प्रवहमान इस वर्ष का पांचवां समायोजन था। पूर्ण विवरण पढ़े 

                                                                                                                                                                                                             

The video of the seminar can be viewed on Youtube here
 

Photo album of the seminar can be seen here on Facebook